• slider3
  • slider2
  • slider1

Welcome to SUBHASH CHANDRA SNATAK MAHAVIDYALAY

गोंडा जनपद में साबरपुर नामक स्थान का एक अलग महत्व है यहाँ इसी स्थान पर “सुभाष चन्द्र स्नातक महाविद्यालय, साबरपुर” की स्थापना समाजवादी विचारक के स्वनाम “सुभाष चन्द्र तिवारी जी” की स्मृति के प्रति विनयपूर्ण कृतज्ञता करने के लिए उनके निष्ठावान पुत्र “इन्दीवर तिवारी” ने की | इस महाविद्यालय की स्थापना का ध्येय इस पिछड़े क्षेत्र के साधनहीन युवकों में शिक्षण एवं स्वाध्याय के प्रति जागरूकता, आत्मविश्वास, अनुशासन के गुणों बीज पनपा कर देश को सक्षम नागरिक देना है |

साबरपुर के इस छोटे से कस्बे में स्थापित इस महाविद्यालय ने क्षेत्र में उच्च शिक्षा की समस्या का सम्यक समाधान उपस्थित किया है | वर्ष 2008 में स्थापित महाविद्यालय के विकास के इन सपनों की उपलब्धि को अनुशासन निष्ठ कर्मचारियों एवं कुछ अधिक सीख लेने की मानसिकता वाले सरल छात्रों के समूह को जाता है | श्री इन्दीवर तिवारी जी का जीवन संघर्ष में ही बीता लेकिन राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र में सफलता निरंतर मिलती रही |

वह दो बार ग्राम प्रधान, गन्ना विकास समिति बभनान के चेयरमैन, बी.डी.सी. सदस्य एवं चार बार साधन सरकारी समिति के अध्यक्ष रहें | सामाजिक एवं राजनीतिक प्रेरणा से महाविद्यालय खोलने हेतु संकल्पबद्ध हुए और इसी का परिणाम हमें उच्च शिक्षा के क्षेत्र में 2008 महाविद्यालय की स्थापना हुई जिससे क्षेत्र के बच्चे शिक्षित एवं अनुशासित रहे |

प्रवेश प्रक्रिया

इस वर्ष महावि़द्यालय द्वारा निर्धारित योग्यता वाले अभ्यथिर्यो के लिए निर्धारित सीटों की संख्या के अनुसार पात्रता / योग्यता तथा साक्षात्कार में दक्षता के आधार पर प्रवेश किया जायेंगा...विस्तृत जानकारी डॉ० राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.rmlau.ac.in और www.rmlauexams.in पर उपलब्ध है |

छात्रवृत्तियाँ

राज्य सरकार के द्वारा छात्रवृत्तियाँ सामान्य, पिछड़ी जाति, अनुसूचित जाति एवं जनजाति को प्रदान की जाती है । इन छात्रवृत्ति की विस्तृत जानकारी हेतु www.scholarship.up.nic.in पर उपलब्ध हैं | राष्ट्रीय छात्रवृत्ति मेरिट के आधार पर (60%या इससे अधिक अंक प्राप्त करने पर)।

दृढ इच्छा शक्ति ही सफलता का साधन है |